देवघरपुलिस प्रशासन

योजना में चढ़कर बोल रही कमीशनखोरी, नहीं देने पर लाभुकों को मिलती है धमकी

ब्यूरो रिपोर्ट (देवघर) : देवघर नगर निगम क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभुकों से खुद वार्ड पार्षद द्वारा योजना की राशि भुगतान के बदले कमीशन वसूली का मामला सामने आया है. पैसे नहीं देने वाले लाभुकों को आगे की किश्त पर रोक लगाने की धमकी भी दी जा रही है. परेशान लाभुकों ने अधिकारी से मदद की गुहार लगाई है.
अधूरे पड़े लगभग एक दर्जन प्रधानमंत्री आवास योजना का यह नज़ारा देवघर नगर निगम के वार्ड नम्बर 5 का है. दरअसल यहाँ लाभुकों को आवास तो आवंटित कर दिए गए लेकिन मकान बनाने के लिए मिलने वाली राशि की पहली किश्त के साथ ही खुद वार्ड पार्षद ने अपना कमीशन भी तय कर दिया. पैसे नहीं देने वाले लाभुकों को प्रताड़ित करने के लिए योजना की अगली किश्त रोक दी गई. अपना कच्चा मकान तोड़ कर पक्का आवास बनाने का सपना देख रहे परेशान लाभुकों बासुकी पंडित, इदरीश मियां, सकू पंडित आदि ने अधिकारियों से मदद की गुहार भी लगाई लेकिन स्थिति वही ढाक के तीन पात वाली रही.
इतना ही नहीं लाभुकों की मानें तो वार्ड पार्षद के दबंगई का यह आलम है कि कमीशन नहीं देने वाले लाभुकों को झूठे मुकदमें में फंसाने की धमकी भी दी जाती रही है. मामला नगर आयुक्त के सामने लाये जाने पर जांच कर वार्ड पार्षद के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने और लाभुकों को बकाया किश्त का तुरंत भुगतान करने की बात की जा रही है.
हाउसिंग फॉर ऑल के संकल्प के साथ 2022 तक पूरे देश मे 4 करोड़ घरों के निर्माण का बड़ा लक्ष्य प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत तय किया गया है. लेकिन स्थानीय स्तर पर मोनिटरिंग के अभाव में यह योजना कमीशनखोरी और बिचौलियागिरी की भेंट चढ़ने लगी है. देवघर का ताजा उदाहरण इसका बड़ा प्रमाण है.
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close